जमशेदपुर,खालसा साजना दिवस के उपलक्ष्य में शनिवार की शाम साकची गुरुद्वारा के विशाल मैदान में भव्य सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया. सेंट्रल सिख नौजवान सभा के बैनर तले “वैसाखी दी शाम गुरु दे नाल” आयोजित कार्यक्रम रंगारंग रहा. विश्व प्रसिद्ध पंजाब के सूफी गायक कंवर ग्रेवाल कार्यक्रम में उपस्थित संगत को देखकर खूब प्रफुलित हुए.

imagename

ख़ासकर युवा नौजवानों के सिर पर सजी पगड़ी को देखकर उन्होंने खूब तारीफ की. उन्होंने कहा कि एक पंजाब से कहानी शुरू हुई थी और आज जगह जगह पंजाब बसा हुआ है. यह गुरु की ही आपार कृपा है.

इससे पूर्व मंच पर पहुंचने पर कंवर ग्रेवाल का कोल्ड फायर जलाकर स्वागत हुआ. उपस्थित संगत का उन्होंने अभिवादन किया. उसके बाद शुरू हुआ कंवर ग्रेवाल के सूफी गीतों का दौर. अपने गीतों से देर रात तक वह दर्शकों को झूमाते रहे. उनका एक प्रसिद्ध गीत साहमने बैठा होवे यार, ते मिलना पेंदा हे… पर दर्शकों ने खूब गोते लगाए. इसके बाद जपले राम नू, धयाले राम नू…. जिहने दुनिया प्रकट कीती…, वेख मर्दान्या रंग करतार दे…, टिकटान दो लै लीं… खालसा सदा आजाद है…, आदि गीतों पर संगत को सिख धर्म के उंचे इतिहास से अवगत कराया. जातपात से ऊपर उठकर एक करतार का सिमरन करने की अपील की.

इससे पूर्व शाम साढ़े छह बजे सांस्कृतिक संध्या की शुरुआत साकची गुरुद्वारा के ग्रंथी जत्थेदार जरनैल सिंह ने गुरु चरणों में अरदास कर की. उसके बाद हरमन गिल के ड्रीम भंगड़ा ग्रुप के बच्चों ने सभ्याचारिक प्रस्तुति देकर दर्शकों को झूमाया. साकची के बहादुर खालसा दल ने सिख मार्शल आर्ट (गतका) की प्रस्तुति दी. इसके बाद मुख्य अतिथि और अन्य सम्मानित अतिथियों को सम्मानित किया गया.

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजसेवी एवं उधमी अमरप्रीत सिंह काले ने अपने सम्बोधन में सिख पंथ को मजबूत होने के लिए आपस में गले लगने की गुजारिश की. उन्होंने कहा की हमें गुरवाणी के उपदेशों के अनुसार मन निवां मत ऊँची रखने की जरूरत है. तब गुरु महाराज अपने बख्शीश करेंगे. इस कार्यक्रम में पहली पंक्ति लाइन में हमारे समाज के वैसे प्रबुद्ध लोग हैं, जिनपर गुरु महाराज की कृपा है. उन्हें चाहिये की समाज में जरूरत मंद लोगों की मदद करें. इसके लिए विशाल संस्था सीजीपीसी जो समाज का छाता है. उसकी छाँव में एक होकर बैठकर समाज को आगे ले जाने के विचार होने चाहिए. उन्होंने वर्तमान में सीजीपीसी में चल रहे शिक्षा, स्वास्थ्य के कामों की भी खूब सराहना की. इस मौक़े पर अन्य अतिथि तख़्त हरिमंदिर जी, पटना साहेब के महासचिव इंदरजीर सिंह, सेंट्रल के प्रधान भगवान सिंह, झारखंड प्रदेश गुरुद्वारा के प्रधान सरदार शैलेन्द्र सिंह, टेलको वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष गुरमीत सिंह, साकची गुरुद्वारा के प्रधान निशान सिंह ने भी सभी का धन्यवाद किया. नौजवान सभा की ओर से सभी को मोमेंटो, पगड़ी और शॉल देकर सम्मानित किया गया. कार्यक्रम में पहुंचे कंवर ग्रेवाल को भी झारखंड की संस्कृति का प्रतीक चिन्ह, किरपान आदि देकर जोरदार स्वागत किया गया. कार्यक्रम का संचालन साकची गुरुद्वारा के महासचिव परमजीत सिंह काले ने किया.


Discover more from Yash24Khabar

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Yash24Khabar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading