जहानाबाद । सनराइज पब्लिक स्कूल मई हॉल्ट के समीप मां सरस्वती की पूजा धूमधाम एवम हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। स्कूल की छात्र -छात्राएं मां शारदे की आराधना किया और पुष्पांजलि दी । इस अवसर पर स्कूली बच्चे पूजा अर्चना के बाद प्रसाद ग्रहण किया। वहीं मौके पर बसंत पंचमी के पावन अवसर पर विद्या के आराध्य देवी मां सरस्वती को वन्दन कर “सन राइज पब्लिक स्कूल मई ,जहानाबाद,” में आशीर्बाद लेते मगध चेतना मंच के अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह, सचिव सूरज कुमार निर्मल, वरीय समाजिक कार्यकर्ता सह पत्रकार नागेंद्र कुमार, प्रधानाध्यापक अंकित राज, बंटी कुमार ,सन्नी कुमार आदि मौजूद रहे।
प्रार्थना उपरान्त मंच के अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा कि विश्व कल्याण एवम शांति हेतु बुद्धि और विवेक का समन्वय आवश्यक है । अतः माता धरती के अपने सभी पुत्रों को आदर्श ज्ञान अर्पण कर लोगो में अपनत्व का भावना जागृत करें । उन्होंने कहा कि विद्या की अधिष्ठत्री देवी मां शारदे की पूजा अर्चना माघ मास के पंचमी तिथि को की जाती है और माता रानी से उर अज्ञान तम के निवारण हेतु ज्ञान दीपालोक की कामना की जाती है । धन्य है हमारी सनातन संस्कृति जहाँ पत्थर व मिट्टी की मुरत में अपने आराध्य देवी देवताओं के प्राण प्रतिष्ठा करके उसे जीवंत बनाकर, उन्ही शक्ति पुंज से विभिन्न प्रकार की शक्तियों की कामना भक्त गण करते है और ये अलौकिक शक्तियां जाग्रत होकर मन इछित ऊर्जा का उत्सर्जन करती है और भक्तो के बीच अपनी महत्ता व उपस्थिति दर्ज कराती है, तभी तो आज तक़ इनकी पूजा की परम्पराएं बरकरार है और रहेगी । वहीं स्कूल के प्रधानाध्यापक अंकित राज ने कहा कि विश्वरूपा विशालक्षी महाशक्ति स्वरूपा माता सरस्वती से ज्ञान, विद्या और बुद्धि के लिए शरनागत व समर्पण भाव से पूजा, अर्चना , याचना करें, तो ममतामयी व दयामयी की कृपादृष्टि से ज्ञान ज्योत का अभ्युदय मानस पटल पर होगा और अज्ञान तिमिर तम विलिन होकर एक नवीन उषा का आगमन होगा । वहीं सचिव सूरज निर्मल का कहना है कि तू साधक बनकर साध्य यानी शक्ति सिद्धि हेतु साधना कर, शक्तियां तो तेरे इंतजार में है, आह्वान तेरा सार्थक होगा , क्योंकि ये महाशक्तियां भी लोकहिताय के लिए है , उनकी आकांक्षा पूजा व महत्ता बनी रहे एवज में शक्ति देकर देव व मानव का मधुर संबंध बना रहे जो नियति के संतुलन के लिए जरूरी भी है । वहीं सभी आगंतुकों ने विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा अर्चना एवं 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में 40 सीआरपीएफ शहीद जवानों के प्रति पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया । मौके पर वरिष्ठ पत्रकार व समाजसेवी नागेन्द्र कुमार ने कहा कि बसंत पंचमी का पर्व भारतीय जन जीवन को श्रद्धा एवं विद्या के प्रति प्रेरित करता है, इस दिन प्रकृति, पशु, पक्षी तक उल्लास से भर जाते हैं, मां शारदे की आराधना कर युवा, छात्र-छात्राएं एवं विभिन्न शैक्षणिक संगठनों में विद्या की कामना की जाती है। जबकि पुलवामा की घटना 14 फरवरी 2019 में हुआ था, जिसमें 40 सीआरपीएफ के जवान वीरगति को प्राप्त किए थे । आज सभी लोगो ने उन वीरगति प्राप्त जवानों को भी नमन करते हुए उन्हें श्रद्धांजली अर्पित की ।

imagename

Discover more from Yash24Khabar

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Yash24Khabar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading