धनबाद सुरुन्गा एवं मुकुन्दा मौजा के रैयतों के जमीन के बदले नियोजन और मुआवजा दिए बगैर जबरन ओबी डंपिंग कार्य करने के विरोध में अंचल अधकारी द्वारा प्रबंधन के खिलाफ मामला दर्ज करने के बावजूद प्रबंधन द्वारा निरंतर ओबी डंप किए जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए शनिवार को ग्रामीणों ने पांडव रजक ,कपूर गोराई ,विरोध रजक के नेतृत्व में सुरुन्गा से आक्रोश रैली निकाला।

imagename

जहां ओबी डंप के उपर खड़े आउटसोर्सिंग परियोजना के समर्थकों ने ग्रामीणों को परियोजना में आने से रोकने के लिए ग्रामीणों पर जमकर पत्थरबाजी करते हुए दनादन आठ फायरिंग एवं आधा दर्जन बम विस्फोट कर क्षेत्र में सनसनी फैला दिया। गोली बम चलते ही ग्रामीणों में भगदड़ मच गयी। अंततः ग्रामीणों ने गोल्बद्ध होकर मोर्चाबंदी कर पुलिस कि मौजुदगी में ओबी डंप के उपर चढ़कर डंप पर खड़े आउटसोर्सिंग समर्थक गुंडों को खदेड़ दिया। घटना के दौरान पुलिस कर्मी कि संख्या कम रहने के चलते हमलावरों के तांडव के आगे पुलिस पुरी तरह बेबस दिखी।

इस दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने एक हमलावर उमेश महतो को पकड़कर जमकर पिटाई कर गंभीर रूप से जख्मी कर पुलिस के हवाले कर दिया है। ग्रामीणों ने आउटसोर्सिंग के गुंडों के दो मोटरसाइकिलों में आग लगाकर फूंक दिया तथा एक मोटरसाइकिल को क्षतिग्रस्त कर दिया है जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया । मौके से पुलिस ने एक बड़ा जिंदा सुतली पलीता बम तथा एक फरसा को जब्त किया है।हालांकि फरसा जब्ती के दौरान पुलिस को ग्रामीणों के विरोध का भी सामना करना पड़ा है। इधर आउटसोर्सिंग परियोजना प्रबंधन के समर्थकों द्वारा ग्रामीणों पर किए गए अंधाधुंध पत्थरबाजी में उषा देवी ,आलोचना देवी _गंगामनी देवी ,शकुंतला देवी ,अन्कुरी देवी , पांडव रजक ,राहुल कुंभकार आदि सहित लगभग एक दर्जन लोग घायल हो गए। घटना के विरोध में सारे ग्रामीण एकजुट होकर आउटसोर्सिंग परियोजना को बंद कराने को दोपहर में मार्च करने लगे तभी पुलिस ने ग्रामीणों के आक्रोश देख ग्रामीणों कि भीड़ को रोका। भीड़ को अनियंत्रित होता देख अलकडीहा ओपी प्रभारी आशीष यादव एवं तिसरा थाना प्रभारी एसके विश्वकर्मा के नेतृत्व में पुलिसकर्मियों ने ग्रामीणों पर लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया। ग्रामीणों ने लाठीचार्ज के विरोध में सुरुन्गा तालाब के समीप सभा कर पुलिस पर आउटसोर्सिंग प्रबंधन एवं उसके गुंडा सतीश महतो पर पक्षपाती करने का आरोप लगाते हुए चेतावनी दिया कि पुलिस ने अगर पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाकर हमलावरों को अगर बचाने का प्रयाश किया तो पुलिस के खिलाफ जनजागरण आंदोलन किया जाएगा।


Discover more from Yash24Khabar

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Yash24Khabar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading