दो मैचों में रचिन रवीन्द्र नहीं चले और वे लोग तो जैसे गायब ही हो गये जो कहा करते थे कि धोनी के रहते सीएसके को कोई हरा नही सकता। कहां गये वे लोग जो कहा करते थे कि सनराइजर्स हैदराबाद के ओपनरों को चेन्नई सुपर किंग्स के गेंदबाज और धोनी देख लेंगे? साफ हो चुका है कि इस सीजन चेन्नई सुपर किंग्स की सफलता का राज केवल रचिन रवीन्द्र ही थे और यह साबित भी हो गया कि अगर रचिन को सस्ते में निपटा दिया गया तो चेन्नई सुपर किंग्स मैच आसानी से नही जीत सकती है।

imagename

अब तो चेन्नई सुपर किंग्स की गाङी भी पटरी से उतर चुकी है। यह पूरी तरह से साफ हो चुका है कि इस साल आईपीएल में वही टीमें सफल रही हैं जिनके ओपनर पावरप्ले में शानदार खेले हैं या फिर मध्यक्रम का कोई एक बल्लेबाज टिककर लम्बा खेला है। चेन्नई सुपर किंग्स,केकेआर और सनराइजर्स हैदराबाद यह वह टीमें हैं जिनके पास इस आईपीएल के सबसे खतरनाक ओपनर हैं। वहीं आरसीबी,लखनऊ सुपर जाएन्ट्स ऐसी टीमें हैं जिनके पास टुकटुक ओपनर बल्लेबाज हैं। लखनऊ दो मैच तो मयंक यादव के बलबूते जीत चुका है लेकिन आरसीबी की हालत टुकटुक बल्लेबाज की वजह से पतली बनी हुई है।

फटाफट क्रिकेट को फटाफट अंदाज में खेलते हुए सनराइजर्स हैदराबाद के ओपनरों ने आज चेन्नई सुपर किंग्स को वापसी का मौका ही नही दिया। अभिषेक शर्मा और हेड ने ऐसी तूफानी शुरूआत दी कि मार्करम के धीमे अर्द्धशतक का भी टीम पर कोई प्रभाव नही पङा। टी20 में धीमा खेलने वालों की कोई जगह नही होनी चाहिए चाहे वह कोई भी बङा खिलाङी ही क्यों न हो। अपने ही अंदाज में खेलकर सनराइजर्स हैदराबाद ने चेन्नई सुपर किंग्स को 6 विकेट से हरा दिया है।


Discover more from Yash24Khabar

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Yash24Khabar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading