जब आपकी टीम में दुनिया का ऐसा बल्लेबाज मौजूद था जिसने लिस्ट A वनडे क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाया था तो फिर आप चार मैच हारने का इन्तजार क्यों किए ? यह वह सवाल है जो हर दिल्ली कैपिटल्स का प्रशंसक लखनऊ सुपर जाएन्ट्स के खिलाफ जेक फ्रेशर मैकगर्क की पारी देखने के बाद पूछ रहा है। ऋषभ पंत और पोन्टिंग केवल बङे नामों में ही उलझे रहे और जैक फ्रेजर मैकगर्क को बेंच पर ही बैठाए रह गये और दिल्ली कैपिटल्स चार मैच हार गयी।

imagename

आस्ट्रेलिया के जेक फ्रेजर मैकगर्क ने लिस्ट A क्रिकेट में एक वनडे मैच में मात्र 29 गेंद पर शतक ठोंक रखा है। तस्मानिया के 435 रनों के जवाब में बल्लेबाजी करते हुए जैक फ्रेजर मैकगर्क ने 38 गेंद पर 125 रनों की पारी खेली थी जिसमें कुल 13 छक्के और 10 चौके शामिल थे। सोचिए इतना खतरनाक बल्लेबाज दिल्ली की टीम छुपा के रखी थी और जब दिल्ली के कप्तान पंत ने लखनऊ सुपर जाएन्ट्स के खिलाफ पहली बार खेलने का मौका दिया तो मैकगर्क ने 35 गेंद पर 55 रनों की तूफानी पारी खेली जिसमें 2 चौके और 5 छक्के शामिल रहे।

काश! दिल्ली की टीम ने समय रहते जैक फ्रेजर मैकगर्क को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया होता तो शायद उनकी टीम चार मैच नही हारती। आज फ्रेजर की हिटिंग देखने के बाद सौरव गांगुली भी गर्दन ऐंठते नजर आए और शायद उनको भी इस बात का एहसास हो गया है कि मैकगर्क को मौका देने में देर कर दी गयी है। फ्रेजर की इस शानदार तूफानी पारी के दम पर दिल्ली कैपिटल्स ने लखनऊ सुपर जाएन्ट्स को 6 विकेट से हरा दिया है। दिल्ली कैपिटल्स की इस सीजन यह दूसरी जीत है।


Discover more from Yash24Khabar

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Yash24Khabar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading