दिल्ली,केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने कॉम्प्लेक्स के निर्माण का ठेका 206.49 करोड़ रुपये में झारखंड की कमलादित्य कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को दिया था. हालांकि सूत्रों के मुताबिक, प्रोजेक्ट की लागत बढ़कर करीब 300 करोड़ रुपये हो गई है।

imagename

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत प्रधानमंत्री के साथ-साथ उप राष्ट्रपति के लिए भी नया घर बनना था. घर बन चुका है. पूजा पाठ भी हो गई है और उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ परिवार के साथ नए घर में शिफ्ट भी हो गए हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, नए घर पर लगभग 200 करोड़ रुपये का खर्चा हुआ है. स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, कॉन्फेरेंस फैसिलिटी और स्विमिंग पूल जैसी कई सुविधाएं दी गई हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, उप राष्ट्रपति धनखड़ ने 14 फरवरी को बसंत पंचमी के मौके पर नए घर में पूजा करवाई थी. इसके बाद से ही मौलाना आजाद रोड वाले उपराष्ट्रपति भवन से शिफ्टिंग का प्रोसेस शुरू हुआ. फिर 4 अप्रैल को उप राष्ट्रपति. भी चुपचाप अपने नए घर में चले गए हैं इसको लेकर कोई आधिकारिक जानकारी अब तक सामने नहीं आई है. राज्यसभा की वेबसाइट पर भी उप राष्ट्रपति का एड्रेस पुराना ही दिख रहा है.

नया घर या ‘वी-पी एन्क्लेव’ नॉर्थ ब्लॉक और राष्ट्रपति भवन के पास 15 एकड़ की जमीन पर बना है. परिसर में उप राष्ट्रपति का घर और एक अलग सचिवालय भवन शामिल है जिसमें उनका ऑफिस और एक कॉन्फेरेंस रूम है. इसके अलावा एक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्विमिंग पूल भी है जिसे बाद में प्रोजेक्ट में जोड़ा गया.

नवंबर 2021 में केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने कॉम्प्लेक्स के निर्माण का ठेका 206.49 करोड़ रुपये में झारखंड की कमलादित्य कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को दिया था. हालांकि द इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि प्रोजेक्ट की लागत बढ़कर करीब 300 करोड़ रुपये हो गई है. जब आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय और CPWD के प्रवक्ताओं से परियोजना की अंतिम लागत पर जवाब मांगा गया तो कोई जवाब नहीं मिला.

अब उप-राष्ट्रपति के मौलाना आजाद रोड वाले पुराने बंगले को ध्वस्त कर दिया जाएगा.


Discover more from Yash24Khabar

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Yash24Khabar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading